हिंदू मान्यताओं के अनुसार कोई भी शुभ कार्य करने से पहले भगवान गणेश की पूजा की जानी जरूरी है. भगवान गणेश सभी लोगों के दुखों को हरते हैं. कहा जाता है कि प्रथम पूजनीय गणेश जी का श्रद्धा भाव से पूजन करने से घर में सुख समृद्धि तो आती है […]

देश में कोरोना संक्रमण के मामले तेज़ी से बढ़ते जा रहे हैं. कोरोना का क़हर महाराष्ट्र, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, गुजरात और बिहार में सबसे ज़्यादा देखा जा रहा है. दूसरी तरफ़ अस्पतालों में बेड्स और ऑक्सिजन की कमी के चलते सकड़ों की संख्या में लोगों को अपनी जान गवानी पड़ […]

फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली एकादशी को विजया एकादशी के रूप में मनाया जाता है. विजया एकादशी महाशिवरात्र के 2 दिन पहले ही मनाई जाती है. इस वर्ष यह 9 मार्च 2021 को मनाई जाएगी. इस दिन भगवान विष्णु की पूजा का विशेष महत्व होता है. कहा जाता […]

दक्षिण भारत पोंगल का त्योहार काफ़ी धूमधाम से मनाया जाता है. मकर संक्रांति और लोहड़ी की तरह ही पोंगल भी किसानों के लिए ख़ास महत्व रखता है.

फसल की बुवाई और कटाई के लिए लोहड़ी का त्योहार काफी अहम माना जाता है. किसान अपनी नई फसल को अग्नि देवता को समर्पित करते हुए लोहड़ी का त्योहार मनाते हैं.

देशभर में मकर संक्रांति धूमधाम से मनाई जाती है. मकर संक्रांति के दिन दान, स्नान, श्राद्ध, तपर्ण आदि धार्मिक क्रियाकलापों का अपना ही विशेष महत्व होता है. तो आइए सबसे पहले आपको बताते हैं कि आखिर क्यों मनाई जाती है मकर संक्रांति- इस दिन सूर्य भगवान अपने पुत्र शनि की […]

कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मासिक शिवरात्रि के नाम से जाना जाता है. पौराणिक कथाओं के अनुसार महा शिवरात्रि के दिन मध्य रात्रि में भगवान शिव लिंग के रूप में प्रकट हुए थे. इसीलिए महा शिवरात्रि को भगवान शिव के जन्मदिन के रूप में जाना जाता है और श्रद्धालु शिवरात्रि […]

श्री हरी विष्‍णु की सच्चे मन से उपासना करने से भक्तों को समस्त कष्टों से मुक्ति मिलने के साथ ही सुख, समृद्धि, वैभव, धन और यश की भी प्राप्ति होती है. गुरुवार का दिन श्री हरी विष्णु की उपासना के लिए ख़ास महत्व रखता है इस दिन विष्णु भगवान की […]

साल 2021 में सूर्य, पृथ्वी और चंद्रमा की चाल दुनियाभर के खगोल प्रेमियों को एक पूर्ण चंद्रग्रहण और एक पूर्ण सूर्यग्रहण समेत ग्रहण के चार रोमांचक दृश्य दिखाएगी. हालांकि, भारत में इनमें से केवल दो खगोलीय घटनाएं देखी जा सकेंगी. उज्जैन की प्रतिष्ठित शासकीय जीवाजी वेधशाला के अधीक्षक डॉ. राजेंद्र […]

दिवाली 14 नवंबर को है. हालांकि तमिल लोग अपनी दिवाली मुख्य दिवाली से एक दिन पहले मनाते हैं. छोटी दिवाली या रूप चौदस के दिन ही तमिल दिवाली मनाई जाती है.

Note from Editor

At Bhartiya Samachar we're looking beyond the headlines to drive meaningful coverage that empowers the common man. Looking beyond the headlines, we want to connect across the country to issues that matters most. We explore the reality of hashtag politics and the statistics. We will unearth and bring the truth behind each story in order to promote global conscience.

Quick Links